Best site for health related problems Gharelu nuskhe and desi nuskhe. Gharelu desi ilaj home remedies घरेलू नुस्खे

About

Sunday, February 5, 2017

हल्दी के चमत्कारी फायदे , Miraculous Benefits of Turmeric

No comments

   हल्दी के चमत्कारी फायदे
(Miraculous Benefits of Turmeric )

 हल्दी के चमत्कारी फायदे
 
हल्दी का प्रयोग हम भोजन में करते आ रहे हैं। प्राचीन समय से ही हल्दी को शुभ कामों के लिए प्रयोग में लाया जा रहा है। आयुर्वेद में हल्दी को प्राकृतिक औषधी कहा गया है जो कई रोगों को कारगर इलाज करती है। हल्दी प्राकृतिक एंटीबायोटिक है। इसलिए यह पेट और त्वचा संबंधी बीमारियों को जड़ से खत्म करती है। हल्दी को धार्मिक कामों के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।हल्दी जहां एक ओर खाने का स्वाद और रंग बढ़ा देती है, वहीं इसका उपयोग सौंदर्य वृद्धि और त्वचा की समस्याओं को दूर करने में भी किया जाता है. इसके अलावा हल्दी शरीर को स्वस्थ रखने में भी बहुत सहायक है|
पाचन बनाए दुरुस्ती :- कई रिसर्च के मुताबिक हल्दीम रोजाना खाने से पित्तर ज्या दा बनता है. इससे खाना आराम से हजम होता है|
दे खांसी से राहत:-हल्दी आपको खांसी से राहत देती है। यदि आपको खांसी है तो आप बाजार से हल्दी की गांठे ले सकते हो और इन्हें नियमित चूसने से आप खांसी की समस्या से ठीक हो सकते हो।

डायबिटीज रखे कंट्रोल :-

बायोकेमिस्‍ट्री और बायोफिजिकल रिसर्च की स्‍टडी के अनुसार हल्‍दी के नियमित सेवन से ग्‍लूकोज का लेवल कम और टाइप 2 डायबिटीज का खतरा टल सकता है |
बढ़ती हुई उम्र को रोके :-हल्दी में बढ़ती उम्र को रोकने की क्षमता होती है। यह आपकी बढ़ती उम्र के प्रभाव का पता नहीं लगने देती है। एक चौथाई हल्दी में कच्चा दूध और बेसन को मिलाकर पेस्ट तैयार करें। और इसे अपने चेहरे पर अच्छे लगाएं। अब थोड़ी देर सूखने दें और बाद में चेहरे को हल्के गरम पानी से धो लें।
कैंसर से बचाव :-हल्दी  एक ताकतवर एंटीऑक्सीीडेंट है जो कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं से लड़ती है
बढ़ाए शरीर की प्रतिरोधक क्षमता :-
हल्दी पूरी तरह से एंटी बायोटिक होती है। इसलिए इसके सेवन से आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है और बीमारी होने की संभावना कम होती है। हल्दी शरीर में उर्जा देने के साथ शरीर मे खून को साफ रखती है।
दे चोट और मोच में राहत :-
चोट लगने से घाव बन गया हो या फिर मोच आ गई हो तो आप हल्दी के पेस्ट बनाकर उसको चोट वाली जगह पर बांधने से चोट से होने वाला संक्रमण खत्म हो जाता है। हल्दी वाले दूध के सेवन से भी चोट भीतर से ठीक होने लगती है

डायबिटीज रखे कंट्रोल :-

बायोकेमिस्ट्री  और बायोफिजिकल रिसर्च की स्ट2डी के अनुसार हल्दी के नियमित सेवन से ग्लूीकोज का लेवल कम और टाइप 2 डायबिटीज का खतरा टल सकता है

लीवर संबंधी समस्‍याओं में लाभकारी :-

लीवर की तकलीफों से निजात पाने के लिए हल्‍दी बेहद उपयोगी होती है। यह रक्त दोष दूर करती है। हल्‍दी नैसर्गिक तौर पर ऐसे एन्‍जाइम्‍स का उत्‍पादन बढ़ाती है जिससे लीवर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है।

दाग-धब्‍बों से छुटकारा :-

दाग-धब्‍बे और झाइयां हटाने में हल्‍दी का कोई सानी नहीं। हल्दी और काले तिल को बराबर मात्रा में पीसकर पेस्ट बनाकर लगाने से त्‍वचा साफ और निखरी हो जाती है। हल्‍दी और दूध से बना पेस्‍ट भी त्‍वचा का रंग निखरने और चेहरे को खिला-खिला रखने के लिए बहुत असरदार होता हैं।

शरीर की शुद्धि के लिए हल्दी:-

हल्दी आपके खून को साफ करती है और आपकी ऊर्जा को निर्मल बनती है। हल्दी सिर्फ आपके शरीर पर ही काम नहीं करती, बल्कि यह आपकी ऊर्जा को भी प्रभावित करती है। यह शरीर, खून और ऊर्जा तंत्र की सफाई करती है। बाहरी सफाई के लिए अपने नहाने के पानी में एक चुटकी हल्दी डालें और इस पानी से नहाएं। आप पाएंगे कि आपका शरीर दमकने लगेगा।

सर्दी जुकाम दूर करती है हल्दी:- जिन लोगों को सर्दी के रोग हैं और हर सुबह उन्हें अपनी नाक बंद मिलती है, उन्हें नीम, काली मिर्च, शहद और हल्दी का सेवन करना चाहिए। इससे उन्हें काफी फायदा होगा। 10 से 12 काली मिर्च कूट लें। इन्हें दो चम्मच शहद में रात भर (लगभग 8 से 12 घंटे) भिगोकर रखें। सुबह उठकर इसे खा लें और काली मिर्च को चबा लें। शहद में हल्दी मिला ली जाए तो वह भी अच्छा है। अगर आप सभी डेरी पदार्थों का सेवन बंद कर दें तो हैं तो अपने आप ही बलगम कम होती जाएगी।

मजबूत इम्‍यून सिस्‍टम :-

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा करती है हल्‍दी। इससे शरीर कई बीमारियों से बचा रहता है। हल्‍दी में पाया जाने वाला लिपोपोलिसेकराईड तत्‍व हमारे इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाकर बीमारियों से हमारी रक्षा करता है। साथ ही इसमें एन्‍टी बैक्‍टीरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल गुण भी विशेष रूप से पाए जाते है।

अनचाहे बाल हटाएं :-

अगर आप अनचाहे बालों से परेशान है तो हल्‍दी का प्रयोग करें। अनचाहे बालों को हटाने के लिए हल्दी पाउडर को गुनगुने नारियल तेल में मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को अनचाहे बालों पर लगाएं। इस उपाय से शरीर के अनचाहे बाल धीरे-धीरे हट जाते हैं और त्‍वचा कोमल हो जाती हैं।

साँस सम्बन्धी बीमारियाँ :-

हल्दी वाला दूध प्रतिजैविक होने के कारण जीवाणु और विषाणु के संक्रमण पर हमला करता है। इससे श्वास सम्बन्धी बीमारियों के उपचार में लाभ मिलता है, क्योंकि यह मसाला आपके शरीर में गरमाहट लाता है और फेफड़े तथा साइनस में जकड़न से तुरन्त राहत मिलती है। यह अस्थमा और ब्रान्काइटिस के निदान का प्रभावशाली उपचार भी है।

पीड़ा और दर्द :-पीड़ा और दर्द हल्दी वाले सुनहरे दूध से पीड़ा और दर्द में सबसे बढ़िया राहत मिलती है। यह रीढ़ की हड्डी और शरीर में जोड़ों को मजबूत बनाता है।



 






 पानी पीने से ये 9 बीमारियां होती हैं दूर...
ने का स्वाद और रंग बढ़ा देती है, वहीं इसका उपयोग सौंदर्य वृद्धि और त्वचा की समस्याओं को दूर करने में भी किया जाता है. इसके अलावा
2 / 10
1. पाचन बनाए दुरुस्‍त 
कई रिसर्च के मुताबिक हल्‍दी रोजाना खाने से पित्‍त ज्‍यादा बनता है. इससे
बायोकेमिस्‍ट्री और बायोफिजिकल रिसर्च की स्‍टडी के अनुसार हल्‍दी के नियमित सेवन से ग्‍लूकोज का लेवल कम और टाइप 2 डायबिटीज का खतरा. इसके अलावा हल्दी शरीर को स्वस्थ

बायोफिजिकल रिसर्च की स्‍टडी के अनुसार हल्‍दी के 

No comments :

Post a Comment

कच्‍चे पपीते के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ(Crude papaya health benefits)

कच्‍चे पपीते के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ (Crude papaya health benefits) Papaya आप पके हुए पपीते का इस्तेमाल अधिक करते हो। यह आपकी सेहत के ...