Best site for health related problems Gharelu nuskhe and desi nuskhe. Gharelu desi ilaj home remedies घरेलू नुस्खे

About

Friday, February 17, 2017

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखे लहसुन (Garlic should control blood pressure)

No comments

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखे लहसुन

(Garlic should control blood pressure)

Garlic


भारतीय खाने में यूँ तो लहसून का स्वाद नया नहीं है|चाहे चटनी हो, या तड़का , या फिर सब्जी में स्वाद बढ़ाने के लिये डाला गया हो, लहसून किसी भी चीज़ का स्वाद बढ़ाने के लिये काफी होता है .पर सिर्फ स्वाद ही नहीं लहसून आपकी सेहत की अनिवार्य ज़रूरत भी पूरी करता है रक्तचाप दो प्रकार का होता है पहला, उच्च रक्तचाप और दूसरा, निम्न रक्तचाप। उच्च रक्तचाप में शरीर की धमनियां कड़ी पड़ जाती हैं। यह रोग मधुमेह, अजीर्ण एवं गुर्दे की खराबी से होता है। निम्न रक्तचाप में हृदय पूरे दबाव से रक्त को धमनियों में नहीं फेंक पाता। इसी कारण रक्तचाप सामान्य से नीचे आ जाता है। इस रोग में चक्कर, सुस्ती और कमजोरी के लक्षण प्रकट होते हैं। कभी-कभी रोगी बेहोश भी हो जाता है। लहसुन में एलीसिन नामक एक पदार्थ होता है जो लहसुन की तेज गंध और हाइपोसेंस्‍टिविटी को पैदा करता है। हाइपोसेंस्‍टिव प्रभाव, लाल रक्त कोशिका को बढाने और नाइट्रिक ऑक्साइड के मेटाबॉलिज्‍म को बैलेंस करने में मदद करता है। कई लागों को तेज गंध वाला लहसुन खाने में परेशानी होती है और वे गार्लिक सप्‍पलीमेंट्स लेना शुरु कर देते हैं। लेकिन यह उतना असरदार नहीं होता जितना कि साबुत लहसुन खाने से होता है।


उच्च रक्तचाप का उपचार ( high blood pressure ka gharelu ilaj ):-


दिल की सेहत के लिए खाएं लहसुन :- लहसुन खाने से न सिर्फ बैड कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है ‌बल्कि आबपका दिल भी हमेशा फिट रहता है। इसमें ऐसे तत्व होते हैं जो शरीर में गुड कॉलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाते हैं जिनसे बैड कोलेस्ट्रॉल को खत्म करने में आसानी होती है। हाइपरटेंशन और हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को प्रतिदिन कम से कम लहसुन के दो जवे जरूर खाने चाहिए। इसमें मौजूद एलिसिन नामक तत्व हाई बीपी को सामान्य करने में मददगार है। 

शहद  शहद का सेवन करने से रक्तवाहिकाओं की उत्तेजना शांत होती है। इस कारण उच्च रक्तचाप सामान्य हो जाता है।
नीम  प्रात:काल 25 ग्राम नीम की पत्ती का रस लेना उच्च रक्तचाप में बहुत लाभदायक सिद्ध होता है।

गठिया :-गठिया के दर्द में आराम के लिए भी लहसुन का इस्तेमाल फायदेमंद है. गठिया के मरीजों के लिए ये एक अचूक दवा है. इसका एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण गठिया के दर्द में काफी आराम पहुंचाता है. लहसुन को अपनी डाइट का हिस्सा बनाकर आप गठिया के दर्द में आराम पा सकते हैं|

पाचन तंत्र :-लहसुन का इस्तेमाल पाचन तंत्र को भी मजबूत करता है. इसमें मौजूद कई पोषक तत्व खाने को पचाने में मदद करते हैं. इसके साथ कई रिसर्च में ये भी कहा गया है कि लहसुन का इस्तेमाल कैंसर से बचाव में भी मदद करता है. लहसुन का इस्तेमाल करने वालों में कैंसर होने के चांसेज काफी कम हो जाते हैं

ब्लड क्लॉटिंग से बचाता है लहसुन :-
लहसुन का सेवन उन लोगों के लिए भी बहुत फायदेमंद हैं जिनका खून अधिक गाढ़ा होता है। यह ब्लड क्लॉटिंग को रोकता है, खून पतला करता है और रक्त प्रवाह सुचारू करता है।

कैंसर से लड़ने में मददगार है लहसुन :-
लहसुन शरीर की प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाता है और कैंसर जैसे गंभीर रोग से लड़ने में शरीर की मदद करता है। चिकित्सिक पैनिक्रयाज, कोलोक्टोरल, ब्रेस्ट और प्रोस्टेट कैंसर में लहसुन के कच्चे जवे खाने की सलाह देते हैं।

फंगल इंफेक्शन में भी लहसुन काफी फायदेमंद है. कई बार पैरों की उंगलियों के बीच में फंगल इंफेक्शन हो जाता है. प्रतिदिन की डाइट में कच्चे लहसुन का इस्तेमाल करने से ऐसी बीमारियां दूर रहती हैं साथ ही उस जगह पर कच्चे लहसुन को पीसकर लगाने से भी फायदा होगा

कैसे करें लहसुन का सेवन  1जो लोग टी.बी. की समस्या से जूझ रहे हैं उन्हें रोजाना सुबह खाली पेट लहसुन का सेवन करना चाहिए।

2. जिन लोगों के दांत में कीड़ा लगा है या दांत दर्द की समस्या से जूझ रहे हैं उन लोगों को लहसुन को गर्म करके दर्द वाले दांत के नीचे कुछ देर के लिए रख देना चाहिए। इससे दांत का दर्द भी गायब हो जाएगा। खासकर रात के समय यदि ऐसा करें तो बेहद फायदेमंद साबित होगा क्योंकि दांत की समस्या रात के समय खाने के बाद ज्यादा होती है।

अगर आप दिल के रोगी हैं तो आपके लिए लहसुन बहुत ही फायदेमंद होता है। इसमें सल्फाबइड पाया जाता है, लहसुन एलडीएल कोलेस्ट्रॉयल लेवल को कम कर के हार्ट अटैक और ब्लॉैकेज को रोकता है।
लहसुन आपके शरीर में ब्लेड सर्कुलेशन को भी बेहतर करता है। यह त्व‍चा को भी बेहतरीन बनाता है और शरीर से गंदगी को भी बाहर निकालता है।
लहसुन का रस लेने से शरीर की सारी गंदगी त्वचा के रोम छिद्र के द्रारा बाहर निकल जाती है।
संक्रमण से बचाता है लहसुन
लहसुन के सेवन से शरीर में टी-सेल्स, फैगोसाइट्स, लिंफोसाइट्स आदि प्रतिरोधी तत्व बढ़ते हैं और शरीर की प्रतिरोधी क्षमता बढ़ जाती है। इससे किसी भी प्रकार के संक्रमण का प्रभाव शरीर को तुरंत नहीं होता।
पेट साफ करने के लिए
लहसुन में शरीर के विषाक्त पदार्थों को साफ करने का गुण होता है. साथ ही ये पेट में मौजूद बैक्टीरिया को भी दूर करने में मददगार होता है. खासतौर पर जब इसे खाली पेट खाया जाए|
लहसुन ( lahsun ) शरीर के सभी रोगों को ठीक करने में सक्षम होता है। यह रक्त को पतला  करता है । ये अच्छे कोलेस्ट्रॉल ( HDL ) को बढ़ाता है और बुरे कोलेस्ट्रॉल  ( LDL ) को कम करता है। इसका एलिसिन तत्व हाई ब्लड प्रेशर को कम बनाये रखने में मददगार होता है।लहसुन नियमित खाने से ब्लड क्लोटिंग की समस्या से बचाव हो सकता है। ये शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है जिससे कई प्रकार की बीमारियां दूर रहती है।

दांतों के दर्द में फायदेमंद :-
आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन लहसुन के सेवन से दांतों के दर्द में आराम मिलता है। लहसुन को लौंग के साथ पीसकर दांतों के दर्द वाले हिस्से पर लगाने से दर्द से तुरंत राहत मिलती है।
गर्भावस्था में फायदेमंद
गर्भावस्था के दौरान लहसुन का नियमित सेवन मां और शिशु, दोनों के स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। यह गर्भ के भीतर शिशु के वजन को बढ़ाने में सहायक है। 

रक्त का थक्का (blood clot)बनने में सहायता करता है:-
एजोइन यौगिक रक्त का थक्का बनाने में मदद करता है। जिनको हृदय संबंधी बीमारी होती हैं और रक्त का थक्का बनने में देर होता है उनके लिए यह राम बाण का काम करता है।
टिप- रोज सुबह खाली पेट लहसुन का एक फाँक खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है।









No comments :

Post a Comment

कच्‍चे पपीते के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ(Crude papaya health benefits)

कच्‍चे पपीते के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ (Crude papaya health benefits) Papaya आप पके हुए पपीते का इस्तेमाल अधिक करते हो। यह आपकी सेहत के ...